सोनेगांव थाने के अधिकारियों ने कहा कि बच्ची उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सिद्धार्थ नगर जिले के सहेरिखास गांव की रहने वाली थी और उसे उपचार के लिए लखनऊ (Lucknow) से मुंबई ले जाया जा रहा था.

नई दिल्ली. लखनऊ से मुंबई जा रही एक फ्लाइट की नागपुर एयरपोर्ट (Nagpur Airport) पर मंगलवार सुबह आपातकालीन लैंडिंग (Emergency Landing) करानी पड़ी. यह कदम फ्लाइट में मौजूद 8 साल की बच्ची सवार की तबियत बिगड़ने के बाद उठाया गया था. बच्ची को इलाज के लिए मुंबई ले जाया जा रहा था. बच्ची अपने माता पिता के साथ विमान में यात्रा कर रही थी. पुलिस अधिकारियों ने यह जानकारी दी है.

सोनेगांव थाने के अधिकारियों ने कहा कि बच्ची उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थ नगर जिले के सहेरिखास गांव की रहने वाली थी और उसे उपचार के लिए लखनऊ से मुंबई ले जाया जा रहा था. उन्होंने कहा कि यात्रा के दौरान बच्ची की हालत बिगड़ गई और विमान को यहां बाबासाहेब अंबेडकर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर आपातकालीन स्थिति में उतारा गया. अधिकारियों ने कहा कि बच्ची को सरकारी अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गई.

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, अधिकारियों ने कहा कि बच्ची को हवा में ही दिल का दौरा पड़ गया था. वहीं, कहा जा रहा है कि बच्ची के माता-पिता आर्थिक तौर पर कमजोर हैं और उसके पिता बच्ची की हालत के बारे में सही नहीं बता पा रहे हैं. अधिकारियों ने बताया कि बच्ची को एनीमिया था, जिसकी जानकारी पिता ने नहीं दी थी.

READ:  अवघ्या देशात २१ दिवसांसाठी लॉकडाउन; पंतप्रधान नरेंद्र मोदींची मोठी घोषणा

उन्होंने बताया कि अगर पिता ने यह बता दिया, होता तो बच्ची को हवाई यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जाती. दरअसल, 8-10 ग्राम से कम हीमोग्लोबिन वाले मरीजों को हवाई यात्रा की अनुमति नहीं दी जाती है. वहीं, बच्ची का स्तर 2.5 ग्राम पर था. हवाई यात्रा के दौरान उसकी हालत बिगड़ गई, जिसके बाद फ्लाइट को डॉक्टर बाबासाहब आंबेडकर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर लैंड कराया गया. बच्ची को तुरंत सरकारी मेडिकल कॉलेज में दाखिल कराया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया.

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here