Farmers Protest: कृषि कानूनों (Farm Law) के खिलाफ जारी किसानों के प्रदर्शन (Farmers Protest) के 128 दिन बीत चुके हैं. इस बीच एक बार फिर गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों की महापंचायत होने जा रही है.

नई दिल्ली: भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) के काफिले पर शुक्रवार को अलवर में हुए हमले के बाद कार्रवाई लगातार जारी है. हमले में शामिल मुख्य आरोपी कुलदीप यादव (Kuldeep yadav) सहित 16 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है. इस बीच आज गाजीपुर बॉर्डर पर हमले को लेकर महापंचायत बुलाई गई है. महापंचायत में कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन (Farmers Protest) को तेज करने सहित टिकैत पर हुए हमले पर चर्चा संभावित है.

कई खापों के चौधरी भी पहुंचेंगे

राजस्थान में भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) पर हमले की घटना के बाद भाकियू (BKU) के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत (Naresh Tikait) ने गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों की महापंचायत का ऐलान किया है. इस पंचायत में पश्चिमी उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के किसान हिस्सा लेंगे. नरेश टिकैत आज दोपहर यूपी गेट पर किसानों की महापंचायत में कई खापों के चौधरियों के साथ पहुंचेंगे.

किसानों को आंदोलन स्थल पहुंचने का संदेश

बीकेयू (BKU) की तरफ से किसानों को यूपी गेट पर आंदोलन स्थल पहुंचने का संदेश दिया गया है. वहीं शनिवार को किसानों को समर्थन देने के लिए कर्नाटक और तमिलनाडु से भी कुछ किसान पहुंचे. पंचायत में संयुक्त किसान मोर्चा (Sanyukt Kisan Morcha) के तहत सभी किसान संगठन भी शामिल होंगे.

क्या है पूरा मामला

अलवर जिले के ततारपुर थाना अंतर्गत ततारपुर चौराहे पर शुक्रवार को किशनगढ़ बास (Kishangarhbas) के हरसौली गांव में किसान आंदोलन के समर्थन में सभा कर बानसूर जाते समय ततारपुर चौराहे पर मत्स्य यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष कुलदीप यादव के नेतृत्व में करीब 30-40 युवाओं नें भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत की गाड़ी पर हमला बोला और मुर्दाबाद के नारे लगाए थे. हमले के राकेश टिकैट ने सरकार को जिम्मेदार ठहराया. बीकेयू की तरफ से राकेश टिकैत के लिए सुरक्षा की मांग की गई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here