गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने राज्य में पशुधन कल्याण के लिए कई योजनाओं का शुभारंभ किया. इसके तहत एक कार्यक्रम में उन्हों चांदी से तोला गया.

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी को गांधीनगर में आयोजित एक कार्यक्रम में 85 किलोग्राम चांदी से तौला गया. बाद में मुख्यमंत्री ने यह चांदी प्रदेश की गौशालाओं के कल्याण के लिए लिए दान कर दी. गुजरात सरकार की ओर से कहा गया कि चांदी गौशालाओं में पशुओं के कल्याण के काम आएगी. ‘रजत तुला’ कार्यक्रम समस्त महाजन ट्रस्ट द्वारा आयोजित किया गया था. इस अवसर पर रूपाणी ने कहा हमारी सरकार पशुधन के कल्याण के लिए कृतसंकल्प है. उन्होंने कहा कि हमने गौहत्या रोकने के लिए सख्त कानून बनाए हैं. इसके तहत अधिकतम 12 साल तक की जेल हो सकती है.

पक्षियों के लिए करुणा अभियान
विजय रूपाणी ने कहा कि हमारी सरकार ने पशुओं के इलाज के लिए 350 वैटरिनरी वैन चला रखी है. इसके अलावा गौशालाओं को आर्थिक मदद भी दे रही है जिससे गायों का चारा समय पर पहुंच सके. उन्होंने कहा कि हमने पक्षियों के इलाज के लिए भी बेहतर व्यवस्था की है. रूपाणी के मुताबिक सरकार ने करुणा अभियान की शुरुआत की है जिसके तहत काईट फेस्टिवल के तहत घायल हुए पक्षियों का इलाज किया जाएगा. मुख्यमंत्री ने बनासकांठा और मेहसाणा में ‘गौचर’ विकास कार्यों का ऑनलाइन उद्घाटन भी किया।

राज्य में कोरोना के बढ़ते मामले

इस मुख्यमंत्री ने राज्य में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए लोगों से सतर्क रहने की अपील की है. उन्होंने कुछ दिन पहले ही कहा था कि अफवाहों पर ध्यान न दें. होली में एक जगह लोग इकट्ठे न हों. वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए राज्य की जनता को संबोधित करते हुए रूपाणी ने कहा कि हमें सुनिश्चत करना चाहिए कि कोविड-19 महामारी के कारण कारोबार व अन्य तरह के रोजगार पर कोई असर नहीं पड़े. उन्होंने जनता से यह भी अपील की कि कोरोना को लेकर किसी तरह की अफवाहों के शिकार न हों. शनिवार को गुजरात में कोरोना के इस साल के सबसे ज्यादा मामले सामने आए थे. राज्य में कोरोना 2276 मामले सामने आए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here