India-China Faceoff: पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी (Ladakh Galwan Valley) में LAC पर 15 जून को चीनी सैनिकों (Chinese Troops) ने भारतीय जवानों (Indian Army) पर हमला किया था. इसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे.

नई दिल्ली. पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी (Ladakh Galwan Valley) में बीते दिनों हुई हिंसक झड़प के बाद आखिरकार भारत और चीन (India-China Faceoff) के सैनिक पीछे हट गए हैं. सूत्रों ने ये जानकारी दी है. मिली जानकारी के मुताबिक, दोनों देशों की सेना हिंसक झड़प वाली जगह से 1.5 किलोमीटर पीछे हटी है. यह संभवतः गलवान घाटी तक सीमित है. अब इसे बफर ज़ोन बना दिया गया है, ताकि आगे कोई हिंसक घटना न हो. इसके अलावा दोनों पक्ष अस्थायी ढांचे को भी हटा रहे हैं. भारत ने चीनी सैनिकों के हटने का फिजिकल वेरिफिकेशन भी कर लिया है.

हिंसक झड़प के बाद दोनों देशों की सेनाओं के बीच लगातार बातचीत चल रही थी. सूत्रों की मानें, तो भारत और चीन के सैनिकों ने रिलोकेशन पर सहमति जाहिर की है, जिसके बाद वे मौजूदा स्थान से पीछे हट गए हैं. इसे इस प्रक्रिया का पहला पड़ाव माना जा रहा है.

सूत्रों के मुताबिक, 6 जून को कोर कमांडर की बैठक में इसकी सहमति बनी थी. इसके बाद 30 जून को कोर कमांडर तीसरे स्तर की बैठक में डिसएंगेजमेंट की पुष्टि के लिए 72 घंटे का वॉच पीरियड भी तय किया गया था. जिसके बाद अब दोनों ओर से सेनाओं के पीछे हटने की खबर आ रही है. हालांकि, अभी तक भारतीय सेना की ओर से इसकी आधिकारिक पुष्टि नहीं की गई है.

READ:  चीन से तनाव के बीच बॉर्डर पर हवाई पट्टी बनाने में जुटा भारत, LAC पर बोफोर्स तैनात

बता दें कि गलवान घाटी में LAC पर 15 जून को चीनी सैनिकों ने भारतीय जवानों पर हमला किया था. इसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे. चीन की तरफ से भी 37 से ज्यादा सैनिक हताहत हुए थे, लेकिन चीन ने आधिकारिक तौर पर अपने सैनिकों की संख्या नहीं बताई है.

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here