Farm Laws: पिछले सप्ताह, राज्य के उप मुख्यमंत्री और एनसीपी नेता अजित पवार (Ajit Pawar) ने घोषणा की थी कि महाराष्ट्र सरकार इन कृषि सुधार कानूनों को लागू नहीं करेगी.

मुंबई. महाराष्ट्र (Maharashtra) की महा विकास अघाडी गठबंधन (Maha Vikas Agadhi) की सरकार ने बुधवार को नए कृषि कानूनों (Farm Laws) को लागू करने के पिछले माह के अपने फैसले को वापस ले लिया है. सूत्रों से जानकारी मिली है कि महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) ने यह फैसला कांग्रेस (Congress) की कैबिनेट मीटिंग (Cabinet Meeting) से बहिष्कार की धमकी के बाद लिया है. हिंदुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक महाराष्ट्र की उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) के नेतृत्व वाली सरकार पहले से ही हाल ही में लागू हुए कृषि सुधारों (Agriculture Reforms) के क्रियान्वयन को लेकर दुविधा में थी. हाल ही में संसद से पास हुए इन कानूनों को कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (Nationalist Congress Party) “किसान विरोधी” बता रही है.

पिछले सप्ताह, राज्य के उप मुख्यमंत्री और एनसीपी नेता अजित पवार (Ajit Pawar) ने घोषणा की थी कि महाराष्ट्र सरकार इन कृषि सुधार कानूनों को लागू नहीं करेगी. उन्होंने कहा, “किसानों को लगता है कि कानून उनके लिए लाभकारी नहीं हैं. उन्हें (उन्हें पारित करने की) कोई जल्दी नहीं थी.” पवार ने कहा, “हम अध्ययन कर रहे हैं कि अगर मामला अदालत में जाता है तो क्या हो सकता है.” उन्होंने कहा कि सरकार ने कानूनी विभाग से भी राय मांगी है.

 

READ:  अजय देवगन की 'तान्हाजी' ने 10वें दिन मचाया तहलका, कमाए इतने करोड़

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here