Mumbai: पुलिस को शुरुआती जांच में पता चला है कि इस गैंग ने पिछले 6 महीनों में 4 बच्चों को बेचा है. लेकिन पुलिस को संदेह है कि बेचे गए बच्चों की संख्या और ज्यादा हो सकती है.

मुंबई. क्राइम ब्रांच ने महाराष्ट्र में नवजात बच्चों (Newborn Babies) का सौदा करने वाले एक गिरोह का भंडाफोड़ किया है. इस केस में पुलिस ने अब तक 9 लोगों को गिरफ्तार किया है जिसमें 7 महिलाएं और 2 पुरुष शामिल हैं. एक डॉक्टर को भी गिरफ्तार किया गया है. इन सभी लोगों को 21 जनवरी तक हिरासत में भेज दिया गया है. पुलिस के मुताबिक नवजात बच्चों को 60 हज़ार से 3 लाख रुपये में बेचा जाता था.

पुलिस को शुरुआती जांच में पता चला है कि इस गैंग ने पिछले 6 महीनों में 4 बच्चों को बेचा है. लेकिन पुलिस को संदेह है कि बेचे गए बच्चों की संख्या और ज्यादा हो सकती है. आमतौर पर ये गैंग ऐसे लोगों के पास पहुंचता था जो गरीब होते थे. ये लोग बच्चों को गोद लेने की बात कह कर बच्चों का सौदा लाखों रुपये में करते थे. क्राइम ब्रांच शाखा ने शनिवार को आरती हीरामणि सिंह, रुखसार शेख, रूपाली वर्मा, निशा अहीर, गीताजंलि गायकवाड़ और संजय पदम को गिरफ्तार किया है.

मोबाइल फोन भी जब्त
पुलिस ने आरोपी के पास से 8 मोबाइल फोन भी जब्त किए हैं. पुलिस को उम्मीद है कि फोटो और वॉट्सऐप चैट के जरिए उनको परिवारों का पता लगाया जाएगा जिन्हें बच्चे बेचे गए हैं. पुलिस एसआई योगेश चव्हाण और क्राइम ब्रांच शाखा एक की मनीषा पवार को गिरोह की महिला के बारे में सूचना मिली. सूचना में पता चला कि एक महिला बच्चों को बेचने में शामिल है. वो बांद्रा ईस्ट में रहती है.

READ:  कोरोना वायरस पर पीएम मोदी थोड़ी देर में कैबिनेट के साथ करेंगे अहम बैठक, हो सकता है बड़ा ऐलान

14 जनवरी को लिए गए हिरासत में
14 जनवरी को पुलिस  ने रुखसार, शाहजहां और रूपाली को हिरासत में लिया. कहा जा रहा है कि पूछताछ में इन्होंने अपना जुर्म मान लिया है. रुखसार शेख ने पुलिस को बताया कि 2019 में उसने अपनी बच्ची को 60000 और 1.50 लाख में बेटे को रूपाली के जरिए बेचा था. रूपाली ने खुलासा किया कि हिना खान और निशा अहीर सब एजेंट के रूप में काम करती थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here